Make in India होने के बाद भी iPhone 15 भारत में महंगा क्यों ?

एप्पल ने आईफोन 15 सीरीज का भारत में लॉन्च किया है, जिसमें चार मॉडल हैं - आईफोन 15, आईफोन 15 प्लस, आईफोन 15 प्रो, और आईफोन 15 प्रो मैक्स। आईफोन 15 को भारत में निर्मित किया जा रहा है, जिससे कई लोगों की उम्मीद थी कि इसकी कीमत कम होगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और लोग निराश हैं।

0
1192

एप्पल आईफोन 15 सीरीज भारत में लॉन्च कर दी गई है। इस सीरीज में चार मॉडल लॉन्च हुए हैं – आईफोन 15, आईफोन 15 प्लस, आईफोन 15 प्रो, और आईफोन 15 प्रो मैक्स। ये सभी मॉडल भारत के साथ दुनिया भर में लॉन्च किये गए हैं। इस बार की रिपोर्टों के अनुसार, आईफोन 15 को इस बार भारत में निर्मित किया जा रहा है, जिससे कई लोगों को उम्मीद थी कि आईफोन 15 की कीमत कम होगी। लेकिन लोगों को निराशा हाथ लगी है।

वास्तव में, भारत में आईफोन का निर्माण होता है, लेकिन दुबई की तुलना में इसकी कीमत अधिक है। यह ही नहीं, आईफोन 15 प्रो मैक्स का भारतीय मूल्य दुबई के मूल्य से करीब 46 हजार रुपये अधिक है। इसके परिणामस्वरूप, कई लोग सवाल पूछ रहे हैं कि अगर आईफोन भारत में निर्मित होने के बावजूद भी महंगा ही मिलना है तो मेक इन इंडिया पालिसी का फायदा क्या है?

यह जान लेना महत्वपूर्ण है कि भारत में आईफोन 15 का निर्माण होने से सीधा तौर पर उपभोक्ता को कोई लाभ नहीं हो रहा है। इसका कारण है कि भारत सरकार द्वारा आईफोन पर कई विभिन्न प्रकार के टैक्स लगाए जाते हैं। साथ ही, आईफोन की कीमत में जीएसटी, जिसे वस्त्र और सेवा कर भी कहा जाता है, शामिल होता है। इस कारण से भारत में आईफोन 15 महंगा हो जाता है, जबकि उन देशों, जैसे दुबई में, जहाँ आईफोन पर कम टैक्स लगाया जाता है वहां इसकी कीमत कम होती है।

भारत में आईफोन 15 का निर्माण सीधे तौर पर देश को फायदा पहुंचता है। इससे देश में बड़े पैमाने पर निवेश का लाभ होता है, जैसे कि इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित होना और नई नौकरियों का निर्माण होना, और करों में भी फायदा होता है।

(आप हमें फ़ेसबुकइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here