सनातन की लड़ाई पर PM मोदी ने मंत्रियों को मुँहतोड़ जवाब देने के लिए कहा

प्रधानमंत्री मोदी के बयान से स्पष्ट हो रहा है कि बीजेपी सनातन धर्म के पक्ष में खड़ी है और इस मुद्दे को देशभर में उठाना चाहती है। बीजेपी के कई नेता इस मुद्दे पर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

0
250

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने G-20 बैठक (G-20 Summit) में अपनी पार्टी को उदयनिधि स्टालिन (Udhayanidhi Stalin) के सनातन धर्म (Sanatan Dharma) विरोधी बयान का मुँहतोड़ जवाब देने के लिए कहा। इसके लिए उन्होंने मंत्रियों को निर्देश दिए।वहीँ दूसरी और उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से इंडिया बनाम भारत की लड़ाई से दूर रहने को कहा है। मोदी ने कहा कि इस मुद्दे पर वही लोग अपने विचार रखें जिन्होंने इस विषय पर तैयारी कर रखी है। उन्होंने इस बात का भी संकेत दिया कि केंद्र सरकार आने वाले दिनों में इंडिया की जगह भारत शब्द का इस्तेमाल करेगी।

उदयनिधि स्टालिन का यह बयान आने वाले छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान के चुनावों से पहले आया है और इसे बीजेपी के लिए एक बड़ा फायदा माना जा सकता है क्योंकि इन राज्यों में बीजेपी का मुकाबला कांग्रेस से हो रहा है, और यहां की बहुसंख्यक आबादी सनातन धर्म का समर्थन करती है।

एक सरकारी अधिकारी के अनुसार, टाइम्स ऑफ इंडिया ने लिखा है कि प्रधानमंत्री मोदी अधिकांश ऐसे मुद्दों पर बोलने से बचते हैं, और सरकार अभी जी20 के सफल आयोजन पर पूरा ध्यान केंद्रित किया हुआ है, जिसमें जियोपॉलिटिकल बैठकें आयोजित करने पर फोकस किया जा रहा है। अधिकारी ने आगे कहा कि उदयनिधि स्टालिन के सनातन को मिटाने के बयान पर पीएम मोदी ने भी माना कि कहीं न कहीं स्टालिन ने सीमा पार कर दी है, इसलिए बीजेपी इसका सख्त जवाब देगी।

प्रधानमंत्री मोदी का इस बयान से यह स्पष्ट हो रहा है कि बीजेपी अब सनातन धर्म के खिलाफ जो बयान दिया गया है, उसके साथ आर-पार के मूड में है। इस मुद्दे को बीजेपी देशभर में उठाना चाहती है और यह चुनाव में उनके लिए फायदेमंद भी साबित होगा। बीजेपी की दृष्टि में यह फायदा शहरी क्षेत्रों के मुक़ाबले ग्रामीण क्षेत्रों में ज्यादा होगा।

(आप हमें फ़ेसबुकइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here