Gyanvapi Masjid News: इलाहाबाद हाई कोर्ट ने दी सर्वे की अनुमति

0
927

इलाहाबाद हाई कोर्ट (Allahabad High Court) ने गुरुवार को ज्ञानवापी मस्जिद (Gyanvapi Mosque) में एएसआई को सर्वे (ASI Survey) जारी रखने की अनुमति दे दी है। इस सर्वे के माध्यम से ज्ञानवापी मस्जिद के संबंध में वैज्ञानिक जांच की जाएगी जिससे स्पष्ट होगा कि क्या इस स्थान पर पूर्व में किसी हिंदू मंदिर का अस्तित्व था और क्या यहां एक शिवलिंग पाया गया था?

पिछले महीने 21 जुलाई को बनारस के ज़िला जज ने हिन्दू पक्ष की याचिका पर एएसआई से खुदाई व वैज्ञानिक जांच करवाने का आदेश दिया था। इसके बाद एएसआई ने जल्दबाजी से सर्वे की प्रक्रिया शुरू कर दी, जिससे मुस्लिम पक्ष ने आपत्ति जताई। मुस्लिम पक्ष का दावा है कि एएसआई को दी गई समय सीमा तब तक बढ़ानी चाहिए थी, जब तक कि उनके पक्ष को इस मामले में अदालत के समक्ष जवाब देने का समय नहीं मिलता।

हिन्दू पक्ष का कहना है कि इस सर्वे से स्पष्ट होगा कि ज्ञानवापी मस्जिद के स्थान पर पहले कोई हिंदू मंदिर था और वहां पर शिवलिंग भी मौजूद था। इसे लेकर उनके पास कई प्रतीक चिह्न हैं, जो अधिकारियों द्वारा पाए गए थे। वे भी यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि मस्जिद के निर्माण से पहले वहां का स्थान किसी हिंदू मंदिर का था और इसी लिए सर्वे के पक्ष में हैं।

इस सर्वे के परिणामस्वरूप ज्ञानवापी मस्जिद के संबंध में तथ्य स्पष्ट होंगे और यह विवाद को सुलझाने में मदद करेगा। सर्वे की रिपोर्ट चार अगस्त तक प्रस्तुत करने का एएसआई को आदेश दिया गया है। तब तक इस मामले की सुनवाई जारी रहेगी और उससे पहले एएसआई को उच्च न्यायालय में रिपोर्ट प्रस्तुत करनी होगी।

इस विवाद के पक्षों के बीच तनाव बना हुआ है और सर्वे के परिणाम की प्रतीक्षा कर रहे हैं। अब इलाहाबाद हाई कोर्ट के फैसले का इंतजार है, जो कि इस विवाद को निपटाने में महत्वपूर्ण साबित हो सकता है।

(आप हमें फ़ेसबुकइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here