हरियाणा के मेवात में सांप्रदायिक हिंसा के बाद तनाव: मुख्यमंत्री खट्टर द्वारा सख़्त कार्रवाई का एलान

0
53

हरियाणा डेस्क, गुरुग्राम: हरियाणा (Haryana) के नूंह (Noonh) जिले के मेवात (Mewat) इलाके में सोमवार को धार्मिक यात्रा के दौरान दो गुटों के बीच हुई झड़प में करीब 20 लोग घायल हो गए. हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज (Anil Vij) ने कहा, हरियाणा सरकार ने क्षेत्र में शांति बनाए रखने को प्राथमिकता दी है और उन्होंने केंद्र सरकार से अतिरिक्त पुलिस बल भेजने का अनुरोध किया है।

विश्व हिंदू परिषद (VHP) की ओर से राज्य सरकार और पुलिस प्रशासन पर सवाल उठाए गए हैं. कांग्रेस पार्टी ने नागरिकों से शांति बनाए रखने की अपील की है.

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) ने सांप्रदायिक हिंसा पर चिंता जताते हुए घटना को अफसोसजनक बताया है. उन्होंने नागरिकों से राज्य के भीतर शांति बनाए रखने का आग्रह किया और आश्वासन दिया कि जिम्मेदार लोगों को गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।

हालात पर नियंत्रण पाने के लिए पुलिस ने नूंह में फ्लैग मार्च किया. इसके साथ ही जिला प्रशासन ने बुधवार आधी रात तक मोबाइल इंटरनेट पर प्रतिबंध लागू कर दिया है. रात 8:30 बजे नूंह के डिप्टी कमिश्नर ने दोनों गुटों को शामिल करते हुए एक बैठक की.

समाचार एजेंसी एएनआई द्वारा साझा किए गए वीडियो में, स्थान पर सुरक्षा बलों की महत्वपूर्ण उपस्थिति देखी जा सकती है। इसके अतिरिक्त, वीडियो में कुछ क्षेत्रों में आग लगने की घटनाओं को दर्शाया गया है।

नूंह के स्थानीय पत्रकार शाहिद के मुताबिक, इस इलाके में यात्रा के दौरान बवाल हुआ है. कई दुकानों और वाहनों को आग लगा दी गई है और बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।

इस बीच हरियाणा राज्य में स्थित सोहना में दो गुटों के बीच टकराव की खबरें सामने आई हैं. इसके अतिरिक्त, पुलिस कर्मियों की एक बड़ी टुकड़ी को क्षेत्र में भेजा गया है। बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद ने मेवात में ‘जलाभिषेक यात्रा’ आयोजित करने की घोषणा की थी. इस तीर्थयात्रा में मोनू मानेसर के भी शामिल होने की उम्मीद थी. नासिर जुनैद हत्याकांड का आरोपी मोनू मानेसर फिलहाल फरार है. मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि मोनू मानेसर के इस यात्रा में शामिल होने की वजह से ही पथराव हुआ. शोभा यात्रा में मोनू मानेसर के शामिल होने पर मेवातवासी अपना विरोध जता रहे थे. इस हिंसक घटना के घटित होने के बाद वीएचपी ने एक बयान जारी कर इसे पुलिस और खुफिया तंत्र की विफलता माना है.

(आप हमें फ़ेसबुकइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here