I.N.D.I.A की 24 पार्टियां संसद के विशेष सत्र में जाएंगी

0
44

नई दिल्ली | Parliament Special Session: संसद के विशेष सत्र के संदर्भ में, I.N.D.I.A में शामिल लोकसभा और राज्यसभा सांसदों ने मंगलवार शाम को मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge) के घर में एक मीटिंग आयोजित की। इस बैठक में निर्णय लिया गया कि I.N.D.I.A अलायंस के 28 पार्टियों में से 24 पार्टियां 18 सितंबर से शुरू हो रहे संसद के विशेष सत्र में भाग लेंगी।

न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, कांग्रेस संसदीय दल (CPP) की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने इन 24 पार्टियों की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखने का निर्णय लिया है। केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने पिछले हफ्ते 18 से 22 सितंबर के संसद के पांच दिन के विशेष सत्र के बारे में जानकारी दी थी।

फ्लोर लीडर्स के साथ मीटिंग के बाद, कांग्रेस के अध्यक्ष खड़गे ने कहा, ‘मोदी सरकार पहली बार बिना एजेंडा बताए संसद का विशेष सत्र बुला रही है। किसी भी विपक्षी दल से न तो सलाह ली गई है और न ही जानकारी दी गई है। यह लोकतंत्र चलाने का तरीका नहीं है। हर दिन, मोदी सरकार एक संभावित एजेंडा की कहानी मीडिया में प्रस्तुत करती है, जिससे लोगों को मुद्दों से ध्यान भटकाने का एक बहाना तैयार होता है। भाजपा महंगाई, बेरोजगारी, मणिपुर, चीन के अतिक्रमण, CAG रिपोर्ट, घोटाले जैसे मुद्दों से ध्यान हटाकर लोगों को धोखा देना चाहती है।’

संसद के विशेष सत्र में कोई भी विधेयक प्रस्तुत नहीं होगा और न ही जॉइंट सेशन आयोजित किया जाएगा। पांच दिनों में 4-5 प्रस्ताव पेश किए जाएंगे, जिन पर चर्चा होकर उन्हें ध्वनि मत से मंजूरी दी जाएगी। संसदीय कार्य मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार, दोनों ही सदनों की चर्चा के लिए विशेष सत्र बुलाए गए हैं, इसलिए जॉइंट सेशन नहीं होगा।

यदि जॉइंट सेशन होता, तो लंबित पड़े किसी महत्वपूर्ण विधेयक जैसे महिला आरक्षण विधेयक या ‘एक देश एक चुनाव’ के पेश होने की संभावना होती। सूत्रों के मुताबिक, G-20, चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग, देश के तीसरी आर्थिक शक्ति बनने और इंडिया की जगह भारत का इस्तेमाल करने के बारे में सरकार प्रस्ताव पेश कर चर्चा के बाद उसे मंजूरी दिला सकती है।

(आप हमें फ़ेसबुकइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here