MP Politics: प्रियंका गांधी पर 41 जिलों में FIR, शिवराज सरकार को कहा था 50% कमीशन वाली सरकार

0
834

नेशनल डेस्क: मध्य प्रदेश में एक पत्र के संदर्भ में उठी विवादित ‘50% कमीशन’ मामले से सियासत में गरमा गई है। भाजपा ने इसे फर्जी बताते हुए कांग्रेस के नेता प्रियंका गांधी, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, जयराम रमेश, अरुण यादव और ज्ञानेंद्र अवस्थी पर भोपाल, इंदौर और ग्वालियर समेत 41 जिलों में एफआईआर कराई है।

ग्वालियर में एसएसपी राजेश चंदेल ने बताया कि पत्र की जांच के लिए पुलिस पार्टी बसंत विहार कॉलोनी भेजी गई थी, लेकिन वहां चारों सेक्टरों में न तो ‘लघु एवं मध्यम श्रेणी संविदाकार संघ’ नाम की संस्था मिली और न ही ‘ज्ञानेंद्र अवस्थी’ नाम के हस्ताक्षर करने वाले व्यक्ति।

प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया था कि मध्य प्रदेश में ठेकेदारों के संघ ने हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखकर शिकायत की है कि प्रदेश में 50% कमीशन देने पर ही भुगतान मिलता है।

मध्य प्रदेश में कांग्रेस की नेता प्रियंका गांधी वाड्रा के खिलाफ 41 जिलों में प्राथमिकी दर्ज कराने के मामले में राज्य की भारतीय जनता पार्टी (BJP) इकाई के चीफ विष्णु दत्त शर्मा ने अपनी प्रतिक्रिया दी। वह इसे गंभीर मामला बताते हुए कहते हैं कि इस बड़े राष्ट्रीय दल ने झूठी चिट्ठी के आधार पर आरोप लगाया है।

MP BJP चीफ ने इस पर यकीन दिलाया कि इस तरह की चिट्ठी तैयार कराई जाती है और फिर इसे वायरल कराया जाता है। उनके अनुसार, यह झूठ और छल-कपट की राजनीति का एक उदाहरण है।

उन्होंने इसे एक साजिश के रूप में भी दिखाया और कहा कि यह सरकार को बदनाम करने की साजिश है। उन्होंने यह भी उजागर किया कि इसका उल्लेख साइबर क्राइम के अंदर भी हुआ है और इस प्रकार के आरोपों को क्रिमिनल ऑफेंस के रूप में भी माना जा सकता है।

एफआईआर पर कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने कहा कि इससे लोकतंत्र की हत्या की जा रही है और ये लोगों की आवाज को दबाने का प्रयास है।उन्होंने इसके साथ ही यह भी कहा कि मध्य प्रदेश में भ्रष्टाचार के कई मामले सामने आए हैं, और इसका जवाब अगर किसी को देना है तो वह शिवरजा सिंह चौहान और उनकी सरकार को ही है।

(आप हमें फ़ेसबुकइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here