I.N.D.I.A गठबंधन को बड़ा झटका, देश का नाम होगा ‘भारत’

0
289

नई दिल्ली | Parliament Special Session: 2024 के लोकसभा चुनाव (2024 Lok Sabha Elections) की तैयारी में जुटे कांग्रेस समेत 28 राजनीतिक दलों को नरेन्द्र मोदी सरकार (Modi govt) से बड़ा झटका मिलने की तैयारी में हैं। मिली जानकारी के अनुसार, आगामी 18 से 22 सितंबर तक चलने वाले संसद के विशेष सत्र के दौरान, कई शब्दों को हटाने की तैयारी की जा रही है, जो गुलामी से जुड़े हुए हैं।

इसमें “INDIA” शब्द भी शामिल है, जिसे एक विधेयक के माध्यम से हटाया जा सकता है। इस संबंध में संसद के विशेष सत्र में एक विधेयक प्रस्तुत करने की तैयारी हो रही है। इसके साथ ही आधिकारिक रूप से “INDIA” शब्द का भारतीय राष्ट्र के लिए उपयोग नहीं किया जा सकेगा।

संसद के विशेष सत्र के दौरान, सरकार इस संबंध में एक विधेयक प्रस्तुत कर सकती है। गुप्त सूत्रों के अनुसार, इससे संबंधित प्रस्ताव की तैयारियां जारी हैं। हाल ही में, आरएसएस के सरसंघचालक मोहन भागवत ने भी कहा था कि हमारे देश का नाम सदियों से ‘भारत’ रहा है, और उन्होंने लोगों से ‘इंडिया’ की जगह ‘भारत’ शब्द का उपयोग करने की अपील भी की थी।

संसद के मानसून सत्र के दौरान, भाजपा के राज्यसभा सदस्य नरेश बंसल ने ‘इंडिया’ शब्द को हटाकर ‘भारत’ शब्द का प्रयोग करने की मांग की थी। उनका तर्क था कि ‘इंडिया’ शब्द दासता के प्रतीक के रूप में है। प्रधानमंत्री मोदी ने 25 जुलाई को भाजपा संसदीय दल की बैठक में विपक्षी गठबंधन आइएनडीआइए पर निशाना साधते हुए कहा था कि ईस्ट इंडिया कंपनी और इंडियन नेशनल कांग्रेस का गठन अंग्रेजों ने किया था।

इस बात का उल्लेखनीय है कि सरकार ने 18 से 22 सितंबर तक संसद का विशेष सत्र बुलाया है, लेकिन इसके एजेंडे की कोई जानकारी नहीं दी गई है। विशेष सत्र में चंद्रयान-3 और आदित्य एल-1 मिशन समेत हाल ही में हासिल की गई सफलताओं पर भी चर्चा हो सकती है, साथ ही 2047 तक भारत को विकसित राष्ट्र बनाने का रोडमैप तैयार किया जा सकता है, और इस विषय पर भी चर्चा हो सकती है।

(आप हमें फ़ेसबुकइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here