चाँद पर प्लाट बेचने का चल रहा घोटाला

0
655

नई दिल्ली: चंद्रयान-3 (Chandrayaan-3) की सफलता की चर्चा तो चारों तरफ हो रही है लेकिन चाँद पर ज़मीन (Plots in Moon) बेचने वाले घोटाले पर कोई बात नहीं कर रहा। जी हाँ, हम चाँद पर प्लॉट (Lands on moon) बेचने वाले घोटाले की बात कर रहे हैं। कहीं आप भी तो चाँद पर प्लॉट खरीदने की तो नहीं सोच रहे ? अगर हाँ, तो पहले ये खबर पढ़ लीजिये।

चांद सितारों में घर बसाने के बातें अक्सर फ़िल्मी गानों में होती हैं लेकिन किसी ने सोचा ही नहीं था कि चांद पर जमीन भी बेची और खरीदी जा सकती है। कुछ साल पहले एक कंपनी ने चांद पर प्लॉट बेचने का काम शुरू किया, और यह चौंकाने वाला है कि इस काम में कई लोगों ने शामिल होकर डील की है। लाखों करोड़ रुपयों देकर लोगों ने चांद पर जमीन खरीदी। खबरों के अनुसार, International Lunar Lands Registry और Luna Society International नामक दो कंपनियाँ चांद पर जमीन खरीदने की डील कर रही हैं।

चांद पर जमीन खरीदने वालों में सेलिब्रिटी के नाम भी आए हैं, जिनमें सुशांत सिंह राजपूत का भी शामिल है। सुशांत सिंह राजपूत ने 2018 में चांद पर जमीन खरीदी और उनकी इस जमीन की रजिस्ट्री भी कराई गई थी, जिसके अनुसार उनकी जमीन चांद के “सी ऑफ मसकोवी” में हैं। इसके अलावा शाहरुख़ ख़ान के एक फैन ने भी उनके लिए चांद पर जमीन खरीदने की बात कही थी। एक व्यवसायी ने अपनी बेटी के लिए चंद्रमा पर जमीन खरीदने के बदले कंपनी को बड़ी राशि दी थी। 2002 में, हैदराबाद के राजीव बागड़ी और 2006 में, बेंगलुरु के ललित मोहता नामक व्यक्तियों ने भी इस कंपनी से सौदा किया था।

यहाँ एक प्रश्न उठता है कि चांद पर जमीन खरीदने या बेचने से चांद पर किसी का हक बनता है क्या? हम आपको बताना चाहते हैं कि आप चांद या कोई भी ग्रह के मालिक नहीं हो सकते। वे किसी के अधीन नहीं आते। अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष कानून के तहत, चांद पर जमीन खरीदना कानूनी रूप से मान्य नहीं है। इस प्रकार, यदि ये कंपनियाँ इस प्रकार की डील कर रही हैं, तो यह पूरी तरह से एक घोटाला है।

हालांकि वर्तमान में चांद पर किसी प्रकार का जीवन नहीं पाया गया है, आने वाले समय में ऐसा हो सकता है, लेकिन इससे यह मतलब नहीं कि चांद पर जमीन खरीदने वालों का इस पर अधिकार हो गया है। यद्यपि ये कंपनियाँ दावा करती हैं कि कई देशों ने चांद पर जमीन बेचने के लिए उन्हें मंजूरी दी है, लेकिन इस बात पास कोई सबूत नहीं है। एक बात तो सत्य है कि धरती पर बैठे बैठे इंसान ने चांद को भी बेचने का काम शुरू कर दिया है।

(आप हमें फ़ेसबुकइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here