पीएम मोदी ने लाल क़िले से मणिपुर और कांग्रेस पर क्या कुछ कहा

0
864

नेशनल डेस्क: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने भारत के 77वें स्वतंत्रता दिवस ( Independence Day 2023) के अवसर पर लाल क़िले (Red Fort) से राष्ट्र को संबोधित किया। उन्होंने अपने भाषण में लोगों को ‘परिवारजन’ के रूप में संबोधित किया और आने वाले वर्ष में फिर से लाल क़िले से भाषण देने की संभावना जताई। उन्होंने अपने लगभग डेढ़ घंटे के भाषण में भ्रष्टाचार, 2014 के चुनाव, गुलामी के दौर, महंगाई, और देश के विकास के मुद्दों पर बात की।

पीएम मोदी ने विपक्षी दलों पर भी आलोचना की और मणिपुर में हो रही हिंसा पर भी बोलते हुए कहा, ‘मणिपुर में हो रहे हिंसा के दौरान कई लोगों को तकलीफ हुई , लेकिन अब शांति की आशा दिख रही है।’ पीएम मोदी बोले, “देश मणिपुर के साथ है. केंद्र सरकार, राज्य के साथ मिलकर समाधान के प्रयास कर रही है और करती रहेगी.”

उन्होंने देश की एकता की महत्वपूर्णता पर भी बल दिया और देश को विकसित बनाने की मांग उठाई।

पीएम मोदी ने भ्रष्टाचार, परिवारवाद, और तुष्टीकरण के खिलाफ लड़ाई की महत्वपूर्णता पर भी जोर दिया और देश के विकास के लिए इन बुराइयों के खिलाफ उनकी प्रतिबद्धता को प्रकट किया। परिवारवाद का ज़िक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ”देश के लोकतंत्र में एक बीमारी आई है- परिवारवादी पार्टी. इनका एक ही मंत्र है- परिवार को, परिवार के लिए, परिवार के द्वारा.” वो बोले- ”देश के विकास के लिए ज़रूरी है कि इनसे मुक्ति मिले. समाजिक न्याय को किसी ने तबाह किया है तो वो तुष्टिकरण ने किया है.”

उन्होंने देशवासियों से नफ़रत की बजाय एकता और सामर्थ्य के साथ मिलकर समस्याओं का समाधान निकालने की अपील की।

पीएम मोदी ने अपने भाषण में देश के उद्देश्यों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को प्रकट किया और यह संकेत दिया कि वे अपने सपनों को साकार करने के लिए पूरी तरह समर्पित हैं।

(आप हमें फ़ेसबुकइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here