अगर चंद्रयान-3 की लैंडिंग फेल हो जाए तो क्या होगा?

0
796

नई दिल्ली: 23 अगस्त की शाम को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के द्वारा चलाए जा रहे मून मिशन (Moon Mission) के तहत चंद्रयान-3 (Chandrayaan-3) की चांद पर लैंडिंग होगी। इस पल के लिए हर भारतीय नागरिक ने बेसब्री से इंतजार किया है। लेकिन क्या हो अगर किसी कारणवश चंद्रयान-3 चांद पर सफलतापूर्वक लैंड नहीं कर पाता है? क्या यह अंतरिक्ष में खो जाएगा, या फिर क्रैश हो जाएगा, या फिर धरती पर वापस आ जाएगा? ये सवाल लोगों के मन में घूम रहे हैं।

इसरो के अध्यक्ष डॉ. एस. सोमनाथ ने बताया कि यदि चंद्रयान-3 के सेंसर्स और इंजन बंद हो जाएं, तो भी यह स्वयं को चांद पर लैंड करने का प्रयास करेगा। उनके अनुसार, इस मिशन के आल्गोरिदम और टाइमिंग में बदलाव किया जा सकता है, ताकि वो या तो स्थानीय गुरुत्वाकर्षण को कैप्चर कर सके या फिर पृथ्वी पर वापस आ सके।

इसरो के एक पूर्व अधिकारी का कहना है कि यदि चंद्रयान-3 सफलतापूर्वक चांद की सतह पर लैंड नहीं कर पाता है, तो इसे फेल घोषित किया जा सकता है क्योंकि उसे चांद पर पुनः भेजने के लिए पर्याप्त ईंधन नहीं होगा। इसके अलावा, अंतरिक्ष के रेडिएशन वातावरण में लंबे समय तक रहने से मिशन के पुर्जे काम करना बंद हो सकते हैं और उनके खराब होने की संभावना है।

(आप हमें फ़ेसबुकइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here